भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shiva

द्वादश ज्योतिर्लिंग के मंत्र

सौराष्ट्रे सोमनाथं च श्रीशैले मल्लिकार्जुनम् ।

उज्जयिन्यां महाकालमोङ्कारममलेश्वरम् ॥

परल्यां बैधनाथं च डाकिन्यां भीमशङ्करम् ।

सेतुबन्धे तु रामेशं नागेशं दारुकावने ॥

वाराणस्यां तु विश्वेशं त्र्यम्बकं गौतमीतटे ।

हिमालये तु केदारं घुश्मेशं च शिवालये ॥

एतानि ज्योतिर्लिङ्गानि सायं प्रातः पठेन्नरः ।

सप्तजन्मकृतं पापं स्मरणेन विनश्यति ॥

1. सोमनाथ ज्योतिर्लिंग | Somnath Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaसोमनाथ ज्योतिर्लिंग भारत के गुजरात राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र में स्थित है। यह भारत का ही नहीं बल्कि इस धरती का पहला ज्योतिर्लिंग है। ऐसा माना जाता है कि इस शिवलिंग की स्थापना स्वयं चंद्र देव ने किया था।

 

 

 

2. मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग | Mallikarjuna Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaमल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग भारत के आन्ध्र प्रदेश राज्य में कृष्णा नदी के तट पर श्रीशैल नाम के पर्वत पर स्थित है। शिवपुराण धर्मग्रंथ के अनुसार कहते हैं कि इस ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने मात्र से ही मनुष्य को उसके दवारा किये सभी पापों से मुक्ति मिल जाती है।

3. महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग | Mahakaal Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaमहाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग भारत के मध्य प्रदेश राज्य में उज्जैन नगरी में स्थित है। इस ज्योतिर्लिंग की विशेषता है कि ये एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग है। महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की पूजा विशेष रूप से आयु की वृद्धि तथा आयु पर आये हुए कष्ट, संकट को टालने के लिए किया जाता है।

4. ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग | Omkareshwar Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग भारत के मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के समीप स्थित है।जिस जगह पर यह ज्योतिर्लिंग स्थित है, उस स्थान पर नर्मदा नदी बहती है तथा पहाड़ी के चारों तरफ नदी बहने के कारण यहां ऊं का आकार बनता है।इसलिए इसे ओंकारेश्वर के नाम से जाना जाता है।

5. बैधनाथ  ज्योतिर्लिंग | Baidyanath Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaबैधनाथ ज्योतिर्लिंग भारत के झारखंड राज्य के देवघर जिला में पड़ता है यह मन्दिर जिस स्थान में अवस्थित है, उसे बैधनाथ धाम कहा जाता है श्री बैधनाथ ज्योतिर्लिंग की पूजा अर्चना एवं दर्शन से दुःख दूर हो जाते है।

6. भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग | Bhimashankar Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaश्री भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग भारत के महाराष्ट्र राज्य के पूणे जिले में सह्याद्रि नामक पर्वत पर स्थित है। श्री इस ज्योतिर्लिंग कोमोटेश्वर महादेवके नाम से भी जाना जाता है। इसे भगवान् शिव जी का छठा ज्योतिर्लिंग कहा जाता हैं। ऐसा कहा जाता है जो पूर्ण श्रद्धा तथा विश्वास से इस ज्योतिर्लिंग का दर्शन प्रतिदिन सुबह सूर्य निकलने के बाद करता है, उसके सभी जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं।

7. रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग | Rameshwaram Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaरामेश्वरम ज्योतिर्लिंग भारत के तमिलनाडु राज्य के रामनाथपुरम जिले में स्थित है। यह स्थान हिंदुओं के चार धामों में से एक है। रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग के बारे में यह कहा जाता है कि इसकी स्थापना स्वयं पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम ने की थी।

8. नागेश्वर ज्योतिर्लिंग | Nageshvara Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaनागेश्वर ज्योतिर्लिंग भारत के गुजरात राज्य के बाहरी क्षेत्र में द्वारिका स्थान में स्थित है। धर्म शास्त्रों के अनुसार भगवान शिव को नागों के देवता कहा जाता है। नागेश्वर का अर्थ “नागों का ईश्वर” है। यह कहा जाता है की जो मनुष्य पूर्ण श्रद्धा तथा विश्वास से यहां दर्शन के लिए आता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं।

9. काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग | Kashi Vishwanath Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaकाशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के काशी (वाराणसी) शहर में स्थित है।इस स्थान की मान्यता है, कि प्रलय आने पर भी यह स्थान वैसे ही बना रहेगा। इसकी रक्षा करने के लिए शिव जी इस स्थान को अपने त्रिशूल पर धारण कर लेंगे तथा प्रलय के टल जाने के बाद काशी को उसके स्थान पर पुन: रख देंगे।

10. त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग | Trimbakeshwar Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaत्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग भारत के महाराष्ट्र राज्य के नासिक जिले में ब्रह्मागिरि नामक पर्वत पर स्थित है। इसी पर्वत से ही गोदावरी नदी निकलती है। इस ज्योतिर्लिंग के दर्शन मात्र से ही सभी दुःख और कष्ट दूर हो जाते हैं।

11. केदारनाथ ज्योतिर्लिंग | Kedarnath Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaकेदारनाथ ज्योतिर्लिंग भारत के उत्तराखंड राज्य में बद्रीनाथ के मार्ग में स्थित है। केदारनाथ समुद्र तल से 3584 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। यह तीर्थ भगवान शिव को अत्यंत प्रिय है।

12. घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग | Grishneshwar Jyotirlinga

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग | Twelve Jyotirlinga of Lord Shivaघृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग भारत के महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद जिले के समीप दौलताबाद के पास स्थित है। घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग भगवान् शिव के 12 ज्योतिर्लिंगो में यह अंतिम ज्योतिर्लिंग है। इनको घुश्मेश्वर के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ बहुत दूर-दूर से लोग आत्मिक शांति प्राप्त करने के लिए आते हैं।

Translate »
Scroll to Top